विधायक कैसे बने ? विधायक के चुनाव , कार्य , सैलरी तथा योग्यता

sbse uper

विधायक कैसे बने ? विधायक के चुनाव , कार्य , सैलरी तथा योग्यता


 विधायक कैसे बने : राजनीति ( Politics ) में अपना कैरियर बनाना बहुत से लोगो का सपना होता है जिसके लिए वह Politician Kaise Bane के बारे में सोचते रहते हैं तथा इसके लिए वह अपने जीवन में बहुत Struggle करते हैं । अंतत: उसकी मेहनत उसे सफलता के उस मुकाम तक पहुचाती हैं जिनमे से बहुत से लोग मंत्री , सांसद और नेता व विधायक बनते हैं ।

लेकिन MLA बनना कोई आसान काम नही है इसके लिए संघर्ष के अलावा बहुत से प्रोसेस और जानकारियों को जानना आवश्यक होता है तभी जाकर आपको इस फिल्ड में सफलता मिलने का चांस रहता है ।
विधायक कैसे बने ( Vidhayak Kaise Bane )के पोस्ट में हम आपको विधायक का अधिकार , कार्यकाल , सैलरी से संबंधित पुरी जानकारी बताने जा रहें है जिससे आपको इस फिल्ड में जाने के लिए पुरी जानकारी मिल सके ।

आप सभी लोगो को पता होगा कि MLA Full Form क्या होता है या Mla Ka Matlab नही पता है तो जान लीजिए कि इसका फुल फार्म Member of Legislative Assembly (मेम्बर ऑफ लेजिस्लेटिव असेंबली) होता है ।

Mla

विधायक कैसे बने

विधायक (MLA) बनना बहुत ही चुनौती पूर्ण होता है हलॉकि इसके पद को प्राप्त करना केवल चुनाव तक ही सीमित नही रहता है क्योंकि जरुरी नही हैं कि आप केवल एक ही चुनाव (Election) में जीत जाए आपको हार का भी सामना करना पड़ सकता है इसलिए इसमें बहुत संघर्ष और धैर्य रखने की आवश्यकता होती है । विधायक बनने के लिए बहुत सी जानकारियों को जानना आवश्यक होता है जिससे उम्मीदवार को चुनाव से संबंधित जानकारी , अधिकार योगयता आदि बातो को जान लेने से चुनाव के समय बहुत फायदा मिलता हैं ।

विधायक कौन होते हैं

विधायक अपने विधानसभा क्षेत्र के  मतदाताओं के वोट से बहुमत हुआ जनता का प्रतिनिधि ( Representative ) होता है जो अपने निर्वाचन क्षेत्र के सभी मुद्दो पर विधानसभा में अवाज उठाता है जिसको विधान सभा का सदस्य भी कहा जाता हैं । विधानसभा के अंतर्गत बहुत से जीते हुए MLA Candidates  होते है और इन्ही में से एक को राज्य के मुख्यमंत्री पद के लिए चुना जाता है तथा अन्य विधायको को अलग-अलग पद प्रदान किया जाता है ।

विधायक का काम क्या होता है

विधायक का काम अपने निर्वाचन क्षेत्र (constituency) की सभी समस्याओं को सुनना और उनकी मांगो तथा आवश्यकताओं को विधानसभा में पेश करना तथा राज्य सरकार की योजनाओं को जनता द्वारा पहुचाने का काम एमएलए का होता हैं ।

विधायक का चुनाव कैसे होता है>

प्रत्येक पांच वर्ष के अंतराल पर निर्वाचन आयोग ( Election Commission ) द्वारा विधान सभा का चुनाव कराया जाता है चुनाव लड़ने वाला उम्मीदवार (Candidate ) किसी न किसी राजनितिक पार्टी से जुड़ा होता है या स्वतंत्र चुनाव लड़ता है जिसे निर्दलीय उम्मीदवार कहते हैं । विधान सभा चुनाव के निर्वाचन क्षेत्र में  चुनाव लड़ने के लिए कई उम्मीदवार नामांकन ( Nomination ) किए होते हैं तथा वोटिंग के समय जनता का जिस उम्मीदवार पर निष्पक्ष मत होता है या जनता जिनको भारी मतों से विजयी बनाती है वही उस विधान सभा क्षेत्र का विधायक (MLA) होता है ।

विधायक का चुनाव लड़ने के लिए योग्यता

अगर आाप जानना चाहते हैं कि MLA Kaise Bane .   जिसके लिए आप के पास कुछ योग्यता का होना अनिवार्य हो जाता है । उम्मीदवार को चुनाव लड़ने के लिए उसके पास भारत की नागरिकता होनी चाहिए तथा Vidhayak Ke Liye Age 25 वर्ष से कम नही होनी चाहिए  लेकिन वह अपने राज्य के किसी भी निर्वाचन क्षेत्र का मतदाता होना चाहिए . जिसे भारत सरकार के किसी भी सरकारी पद पर आसिन ना हो वह चुनाव लड़ सकता है ।  विधायक के कंधो पर अपने विधानसभा क्षेत्र की जिम्मेदारीयाँ भी होती है जिसका निवारण करने के लिए उसे मानसिक और शाररिक रुप से स्वस्थ होना जरुरी होता है ।

विधायक की सैलरी कितनी होती है ?

किसी विधानसभा छेत्र का चुनाव लड़कर विजयी हुआ उम्मीदवार उस छेत्र का MLA बनता है क्या आपको पता है कि Vidhayak Ki Salary Kitni Hoti Hai । अगर नही पता तो जान लिजीए कि प्रत्येक राज्य की विधायकों की सैलरी  ( MLA Salary ) अलग-अलग होती है । जिसमें सबसे अधिक सैलरी तेलंगाना राज्य के विधायक की 2.50 लाख रुपये प्रति महीना होती है तथा सबसे कम त्रिपुरा राज्य की जो 35 हजार रुपये प्रति महीना होती है । वही पर भारत के सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला राज्य उत्तर प्रदेश के विधायक का सैलरी 1.87 लाख रुपये तथा भारत की राजधानी दिल्ली के विधायकों की सैलरी 2.10 लाख  रुपये होती हैं । आपके जानकारी के लिए बता दें कि विधायक का मूल वेतन के साथ-साथ उसे अलग-अलग भत्ते भी प्रदान किया जाता है जिससे विधायक का वेतन की  गणना की जाती है ।

विधायक का चुनाव कैसे लड़े ।

अगर कोई व्यक्ती विधानसभा चुनाव (Assembly Election )  लड़ना चाहता है या जानना चाहता है कि How to Fight Election तो उसे इन बातो को जानना आवश्यक होता है ।

निर्वाचन आयोग ( Election Commision ) द्वारा एमएलए के पांच वर्ष के कार्यअवधि के समाप्ती के दो-तीन महीने के उपरान्त चुनाव की घोषणा ( election announcement )और नामांकन तिथी  ( Enrollment date ) घोषित किया जाता है । चुनाव में खड़ा होने वाला व्यक्ती किसी राजनीतिक दल से जुड़ा हो या वह निर्दलीय चुनाव में खड़ा हो सकता है । जिसके लिए  उसे Nomination Form भरना पड़ता है ।
चुनाव लड़ने वाले व्यक्ती जिसमें सामान्य वर्ग के उम्मीदवार , अनुसूचित जाति/ जनजाति (SC/ST)  के उम्मीदवार को क्रमश: 10 हजार और 5 हजार रुपये की   प्रतिभूति राशि ( Security deposit ) जमा करना होता है । तो इस तरह प्रत्यक्ष चुनाव प्रणाली के तहत जनता द्वारा दिया गया वोट ( Vote ) के द्वारा जिन उम्मीदवार को सबसे ज्यादा मत मिलता है वही व्यक्ती Assembly Election Result आने के बाद विधायक बनता है ।

जब कोई व्यक्ती विधानसभा चुनाव जीतकर MLA बनता है तो उसका काम जनता की सेवा करना और क्षेत्र के विकास तथा सभी समस्याओं को सुनकर उसका निवारण करना होता है ।
आज के पोस्ट में आपने विधायक बनने के बारे में पढा और जाना कि विधायक कैसे बने तथा विधायक कौन होते हैं , विधायक का काम क्या होता है , विधायक का चुनाव कैसे लड़े । उम्मीद करता हूँ कि यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा । धन्यवाद

यह भी पढें

पैसे वाला कैसे बने ? 

बॉलीवुड सिंगर कैसे बने 

पत्रकारिता में करियर कैसे बनाये ?

एक सफल एक्टर कैसे बने ? 










Top Post Ad

Below Post Ad

close